19 May 2022, 15:24 HRS IST
  • मोहाली में किसानों का प्रदर्शन
    मोहाली में किसानों का प्रदर्शन
    न्यूयॉर्क मेे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’कार्यक्रम में कपिल देव अतिथि
    न्यूयॉर्क मेे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’कार्यक्रम में कपिल देव अतिथि
    कान फिल्म उत्सव 2022
    कान फिल्म उत्सव 2022
    भारतीय नौसेना ने पोत रोधी मिसाइल का सफल परीक्षण किया
    भारतीय नौसेना ने पोत रोधी मिसाइल का सफल परीक्षण किया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add

हेलीकॉप्टर दुर्घटना मामले की तीनों सेनाओं के दल ने जांच शुरू की - राजनाथ सिंह
  • Photograph Photograph  (1)
  • हेलीकॉप्टर दुर्घटना मामले की तीनों सेनाओं के दल ने जांच शुरू की : राजनाथ सिंह

  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:58 HRS IST

नयी दिल्ली, नौ दिसंबर (भाषा) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बृहस्पतिवार को संसद के दोनों सदनों को बताया कि तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को हुए हेलीकॉप्टर हादसे की जांच एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह के नेतृत्व में तीनों सेनाओं के एक दल ने शुरू कर दी है। इस हादसे में देश के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत सहित 13 लोगों की मृत्यु हो गई।

सिंह ने बताया कि इस दुर्घटना में एक मात्र जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल में जीवन रक्षक प्रणाली पर हैं और उन्हें बचाने के लिये सभी प्रयास किये जा रहे हैं।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पहले लोकसभा और बाद में राज्यसभा में दिये गए अपने बयान में कहा, ‘‘ दुर्घटना की जांच के लिए एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में तीनों सेनाओं के एक दल द्वारा जांच किए जाने का आदेश दिया गया है और इस दल ने कल वेलिंगटन पहुंचकर जांच का काम शुरू कर दिया है।’’ सिंह ने बताया कि ‘‘प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत बुधवार को वेलिंगटन स्थित डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज के छात्रों से संवाद करने के लिए पूर्व निर्धारित यात्रा पर थे।’’

उन्होंने कहा , ‘‘ जनरल रावत ने अपनी पत्नी और 12 अन्य लोगों के साथ सुलुर से एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर से पूर्वाह्न 11 बजकर 48 मिनट पर वेलिंगटन के लिए उड़ान भरी थी। हेलीकॉप्टर को दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर वेलिंगटन में उतरना था। सुलूर वायु यातायात नियंत्रक का 12 बजकर 8 मिनट पर हेलीकॉप्टर से संपर्क टूट गया। बाद में कुन्नूर के पास जंगल में स्थानीय लोगों ने आग लगी देखी। मौके पर जाकर उन्होंने हेलीकॉप्टर को आग की लपटों से घिरा देखा जिसके बाद स्थानीय प्रशासन का एक बचाव दल वहां पहुंचा।’’

रक्षा मंत्री ने बताया कि हेलीकॉप्टर में से लोगों को निकालकर यथाशीघ्र वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया। उन्होंने बताया कि इस दुर्घटना में हेलीकॉप्टर में सवार कुल 14 लोगों में से 13 की मृत्यु हो गयी जिनमें सीडीएस जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत भी शामिल हैं।

सिंह ने बताया कि अन्य मृतकों में सीडीएस के रक्षा सलाहकार ब्रिगेडियर लखविंदर सिंह लिड्डर, सीडीएस के सैन्य सलाहकार एवं स्टाफ अफसर लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान, स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह, जूनियर वारंट अधिकारी राणा प्रताप दास, जूनियर वारंट अधिकारी अरक्कल प्रदीप, हवलदार सतपाल, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेन्द्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार और लांस नायक वीर साई तेजा शामिल थे।

रक्षा मंत्री ने सदन को बताया कि दिवंगत सैन्य कर्मियों के पार्थिव शरीर वायु सेना के विमान से आज शाम तक दिल्ली लाये जाएंगे। जनरल रावत का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अन्य दिवंगत सैन्य कर्मियों का भी उचित सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

उन्होंने यह भी बताया कि एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी को कल ही दुर्घटना स्थल पर भेज दिया गया था और उन्होंने वहां जाकर स्थिति का जायजा लिया।

राजनाथ सिंह ने दिवंगत सैन्यकर्मियों को अपनी और पूरे देश की तरफ से श्रद्धांजलि देते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बृहस्पतिवार को देश के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल रावत की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु पर सदन की ओर से शोक जताया और सदस्यों ने कुछ पल का मौन रखकर जनरल रावत समेत दिवंगत सैन्य कर्मियों के प्रति श्रद्धांजलि प्रकट की।

बिरला ने कहा, ‘‘मैं अपनी ओर से और सदन की ओर से भारत के प्रथम सीडीएस, उनकी पत्नी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में दुखद मृत्यु पर शोक प्रकट करता हूं। जनरल बिपिन रावत ने हमारे देश की रक्षा व्यवस्था में मूलभूत परिवर्तन लाने में अभूतपूर्व योगदान दिया था।’’ राज्यसभा की कार्यवाही आरंभ होने पर उपसभापति हरिवंश ने इस ‘‘दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण’’ हादसे का उल्लेख किया और जनरल रावत के योगदानों की सराहना की। इसके बाद दिवंगत सैन्यकर्मियों के सम्मान में सदन में कुछ पलों का मौन रखा गया।

उपसभापति ने कहा कि जनरल रावत ने देश के सुरक्षा ढांचे में आमूलचूल बदलाव किया। उन्होंने कहा, ‘‘जनरल रावत के निधन से देश ने एक उत्कृष्ट सैनिक खो दिया।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।