06 Jul 2022, 16:40 HRS IST
  • महाराष्ट्र में भारी बारिश के कारण पवई झील उफान पर
    महाराष्ट्र में भारी बारिश के कारण पवई झील उफान पर
    प्रधानमंत्री ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की
    प्रधानमंत्री ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की
    भोपाल में स्थानीय निकाय चुनाव का दृश्य
    भोपाल में स्थानीय निकाय चुनाव का दृश्य
    उत्तर प्रदेश बीएड परीक्षा 2022
    उत्तर प्रदेश बीएड परीक्षा 2022
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • पीओके के प्रधानमंत्री सरदार अब्दुल कय्यूम नियाज़ी ने दिया इस्तीफा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:3 HRS IST

(दूसरे पैरा में बदलाव के साथ रिपीट)



(सज्जाद हुसैन)

इस्लामाबाद, 15 अप्रैल (भाषा) पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के प्रधानमंत्री सरदार अब्दुल कय्यूम नियाज़ी ने सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी में उनके खिलाफ विद्रोह के बाद इस्तीफा दे दिया है।

पीटीआई के प्रमुख इमरान खान द्वारा चुने गए नियाज़ी ने बृहस्पतिवार को इस्तीफा दे दिया। पार्टी के 25 सांसदों ने नियाज़ी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था। उन्होंने पार्टी के क्षेत्रीय अध्यक्ष सरदार तनवीर इलियास को पीओके का नया प्रधानमंत्री बनाने का प्रस्ताव रखा।

नियाज़ी ने 14 अप्रैल को भेजे इस्तीफे में लिखा कि संविधान के अनुच्छेद 16 (1) के तहत, ‘‘ मैं, प्रधानमंत्री के अपने पद से इस्तीफा देता हूं।’’

उन्होंने यह इस्तीफा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के राष्ट्रपति सुल्तान महमूद चौधरी को भेजा।

समाचार पत्र ‘डॉन’ की खबर के अनुसार, राष्ट्रपति मामलों के सचिव डॉ. आसिफ हुसैन शाह ने चौधरी द्वारा नियाज़ी का इस्तीफा स्वीकार करने की पुष्टि की और बताया कि औपचारिक अधिसूचना जारी करने के लिए इसे मुख्य सचिव के पास भेज दिया गया है।

नियाज़ी ने बृहस्पतिवार को इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि अविश्वास प्रस्ताव में उनके खिलाफ ‘‘निराधार आरोप’’ लगाए गए हैं।

नियाज़ी पिछले साल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के प्रधानमंत्री बने थे, जब पीटीआई ने चुनाव में सदन की 53 सीटों में से 32 पर जीत हासिल की थी।

भारत ने पीओके में चुनाव को ‘‘महज दिखावा’’ करार देते हुए खारिज कर दिया था और कहा था कि यह पाकिस्तान की ‘‘ उसके अवैध कब्जे को छिपाने की कोशिश है।’’

पीओके में चुनाव पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा था कि पाकिस्तान का ‘‘इन भारतीय क्षेत्रों पर कोई अधिकार नहीं है’’ और उसे उन सभी भारतीय क्षेत्रों को खाली करना चाहिए, जहां उसने अवैध कब्जा कर रखा है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में