18 Dec 2017, 10:40 HRS IST
  • दुर्घटनावश कुएं में गिर अचेत तेंदुआ
    दुर्घटनावश कुएं में गिर अचेत तेंदुआ
    पार्वती घाटी में भारी बर्फवारी का नजारा
    पार्वती घाटी में भारी बर्फवारी का नजारा
    हमदाबाद : गुजरात चुनाव के अवसर पर मतदाताओं की भीड
    हमदाबाद : गुजरात चुनाव के अवसर पर मतदाताओं की भीड
    अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वोट डालने के बाद
    अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वोट डालने के बाद
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Dronefence Asianet 68795
श्रेणी: High Technology
ड्रोनफेंस ने मूल निवेश की घोषणा की
06/06/2017 3:36:27:267PM

 

 पीडब्ल्यूआर एक

पीआर नंबर 68795

ड्रोनफेंस एक आचेन

संपादक- यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ संपन्न हुई व्यवस्था के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।

ड्रोनफेंस ने मूल निवेश की घोषणा की

आचेन, जर्मनी, 5 जून, 2017, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट।

- निवेशकों में विक्टर प्रोकोपेन्या के वीपी कैपिटल, गटसेरिव फैमिली के लार्नाबेल वेंचर्स, बाउंड्री होल्डिंग और टेक्नोलाॅजी एंड बिजनेस कंसल्टिंग ग्रुप शामिल हैं।

ड्रोन ट्रैकिंग और सुरक्षा प्रणालियों की डेवलपर कंपनी ड्रोनफेंस ने आज घोषणा की कि इसने सूचना प्रौद्यागिकी सेक्टर वीपी कैपिटल में निवेश के लिए गटसेरिव समूह द्वारा वित्तपोषित राशि लार्नाबेल से सीड फंडिंग के तौर पर प्राप्त की है, विक्टर प्रोकोपेन्या द्वारा स्थापित टेक्नोलाॅजी केंद्रित निवेश व्हिकल, रजत खरे के नेतृत्व में बाउंड्री होल्डिंग तथा पुष्कर लुगानी के नेतृत्व वाली टेक्नोलाॅजी एंड बिजनेस कंसल्टिंग ग्रुप में निवेश किया है।

ड्रोन के नाम से भी मशहूर व्यावसायिक रूप से मानवरहित एरियल व्हिकल्स (यूएवी) का इस्तेमाल यदि अंधाधुंध या अनुचित तरीके से किया जाए तो ये जन सुरक्षा को भी खतरे में डाल सकते हैं। फ्रोनहोफर इंस्टीट्यूट फाॅर प्रोडक्शन टेक्नोलाॅजी में टेक्नोलाॅजी एवं इनोवेशन मैनेजमेंट प्रमुख टोनी ड्रेचर के सहयोग से अत्याधुनिक टेक्नोलाॅजी तथा कृत्रिम इंटेलीजेंस क्षमताओं का इस्तेमाल करते हुए ड्रोनफेंस व्यावसायिक अनुप्रयोगों के लिए यूएवी ट्रैकिंग  तथा सुरक्षा प्रणालियों को विकसित करती है, अप्रबंधित ड्रोन की पहचान करने में मदद करती है ताकि इन वाहनों को समझा जा सकता है। कंपनी की पेटेंट लंबित टेक्नोलाॅजी बड़े पैमाने के सेंसरों से जुटाए गए यूएवी मशीन लर्निंग एलाॅग्रिद्म विश्लेषण डाटा की पहचान तथा स्थानीकरण के लिए एक अनूठे सेंसर संयोजन तथा स्टीरियो कैमरा सिस्टम का इस्तेमाल करती हैऔर फिर विभिन्न यूएवी टाइप की पहचान करने में सक्षम हो पाती है तथा उन सबसे अधिकृत यूएवी को अलग करती है जिसमें संभावित सुरक्षा खतरे की आशंका रहती है। ड्रोनफेंस के ग्राहक व्यावसायिक कारोबार से लेकर सार्वजनिक स्थानों तक होंगे, मसलन शाॅपिंग माॅल्स और कंसर्ट क्षेत्रा आदि जबकि सरकारी भवन, हवाई अड्डे और औद्योगिक संयंत्र भी इसके ग्राहक होंगे।

लार्नाबेल वेंचर्स के मैनेजिंग पार्टनर गटसेरिव ने कहा, “परिष्कृत कृत्रिम इंटेलीजेंस टेक्नोलाॅजी का लाभ उठाते हुए ड्रोनफेंस विभिन्न प्रकार के ड्रोन की पहचान तथा विश्लेषण करने में सक्षम है और यह अधिकृत यूएवी को प्रभावी तरीके से रोकने का एक महत्वपूर्ण पहला कदम है। चूंकि ड्रोन टेक्नोलाॅजी पूरी दुनिया में अधिक  फैलती जा रही है, इसलिए यह जरूरी है कि कंपनियों, संगठनों तथा सार्वजनिक क्षेत्रों को उचित सुरक्षात्मक प्रणालियां होनी चाहिए।”

बाउंड्री होल्डिंग के सीईओ रजत खरे ने कहा, “हम अत्याधुनिक नई पीढ़ी की टेक्नोलाॅजीज के लिए प्रतिबद्ध हैं जिनमें यूएवी रक्षा का क्षेत्रा भी शामिल हैऔर हम समझते हैं कि यह विश्व में एक वास्तविक अंतर बनेगा। ड्रोनफेंस टीम में हमारा अटूट विश्वास है और हम इस अभिनव कंपनी का समर्थन करने को लेकर बहुत खुश हैं।”

टेक्नोलाॅजी एंड बिजनेस कंसल्टिंग ग्रुप के सीईओ पुष्कर लुगानी ने कहा, “ड्रोनफेंस ने गेम-चेंजिंग कृत्रिम इंटेलीजेंस टेक्नोलाॅजीज, स्मार्ट एलाॅग्रिद्म और सेंसर के इस्तेमाल का नया तरीका पेश किया है ताकि घटनास्थल पर यूएवी की बारीकी से तलाश की जा सके और पायलट को समझा जा सके। यह कंपनी और इसकी टेक्नोलाॅजीज व्यावसायिक यूएवी उद्योग में सुरक्षा एवं संरक्षा उपायों में क्रांति लाने को तैयार हैं।”

ड्रोनफेंस के सह-संस्थापक बेनी ड्रेचर ने कहा, “ड्रोन जहां कई सकारात्मक अनुप्रयोगोंके साथ आकर्षक टेक्नोलाॅजिकल विकास का प्रतिनिधित्व करता हैवहीं इसके संभावित दुरुपयोग की भी अनदेखी नहीं की जा सकती है। ड्रोन के लापरवाह इस्तेमाल से अपने समाज तथा सामाजिक ढांचे की सुरक्षा करना एक महत्वपूर्ण प्रयास है और ड्रोनफेंस की टेक्नोलाॅजी संपूर्ण रूप से हमारे समाज में सार्थक योगदान देने के लिए तैयार है।”

ड्रोनफेंस जीएमबीएच के बारे में

ड्रोनफेंस व्यावसायिक मानवरहित एरियल व्हिलकल्स (यूएवी) की पहचान के लिए ट्रैकिंग एवं सुरक्षा प्रणालियां विकसित करती है। कंपनी फिलहाल स्काई ट्रैकिंग माॅड्यूल्स का विकास कर रही है जिसे व्यापक दायरे के वायु क्षेत्रा पर निगरानी रखने के लिए कस्टमाइज किया जा सकता है और यह व्यावसायिक, औद्योगिक तथा सरकारी ठिकानों के लिए भी उपयुक्त है। कंपनी की स्थापना 2016 में हुई थी और यह जर्मनी के आचेन में है। कंपनी ने अपनी टेक्नोलाॅजी को लेकर जर्मन पेटेंट तथा ट्रेड मार्क आफिस में पेटेंट आवेदन किया है जो अभी लंबित है ।

ड्रोनफेंस जीएमबीएच


http://www.dronefence.de/


स ंपर्क विवरण

बेनी ड्रेचर

ड्रोनफेंस के सह संस्थापक

info@dronefence.deस्रोतः ड्रोनफेंस जीएमबीएच

पीआरन्यूजवायर- एशियानेटः रंजन

 


 

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti