29 Jun 2017, 00:33 HRS IST
  • वॉशिंगटन: मीडीया के सामने साझा वक्तव्य जारी करते मोदी—ट्रंप
    वॉशिंगटन: मीडीया के सामने साझा वक्तव्य जारी करते मोदी—ट्रंप
    मुंबई: भारी बारिश के बाद पानी से भरी गली से गुजरते लोग
    मुंबई: भारी बारिश के बाद पानी से भरी गली से गुजरते लोग
    हैदराबाद: किदांबी श्रीकांत संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए
    हैदराबाद: किदांबी श्रीकांत संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए
    जम्मू : अमरनाथ तीर्थ बोर्ड द्वारा चिकित्सा शिविर का आयोजन
    जम्मू : अमरनाथ तीर्थ बोर्ड द्वारा चिकित्सा शिविर का आयोजन
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Amar Ujala
श्रेणी: Advertising
अमर उजालाः उत्तर प्रदेश की आवाज, उत्तर प्रदेश का चहेता
10/06/2017 8:55:11:723PM

अमर उजालाः उत्तर प्रदेश की आवाज, उत्तर प्रदेश का चहेता

नोएडा, उत्तर प्रदेश, भारत 10 जून।

आॅडिट ब्यूरो आॅफ सर्कुलेशन (एबी) के जुलाई 2016 से दिसंबर 2016 के निष्कर्षों के दौरान अमर उजाला  एक बार फिर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का नंबर वन अखबार बन गया है जहां इसकी प्रतियां क्रमशः 22,57,323 (वैरियंट की 2,88,280 प्रतियां समेत)  और 2,62,760 प्रतियां हो गई हैं। अमर उजाला की सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि इसने उत्तर प्रदेश में 62,065 प्रतियों और उत्तराखंड में 71,210 प्रतियों के अंतर से दैनिक जागरण को पीछे छोड़ दिया है।

अमर उजाला की कामयाबी की कहानी का एक सबसे महत्वपूर्ण पहलू यह है कि इसने लखनऊ शहर जैसे मुख्य बाजार में 1,96,184 प्रतियों के साथ निरंतर नेतृत्व क्षमता बरकरार रखी है। साथ ही आगरा शहर (वैरियंट की 10,610 प्रतियों सहित 90,108 प्रतियां), इलाहाबाद शहर (वैरियंट की 46,119 प्रतियों के साथ 1,02,096 प्रतियां), बरेली शहर (वैरियंट की 3,928 प्रतियों के साथ 62,935 प्रतियां) और मुरादाबाद शहर (50,370 प्रतियां) उत्तर प्रदेश के अन्य प्रमुख बाजार रहे हैं जहां अमर उजाला लगातार नंबर वन का मुकाम बनाए हुए है जबकि उत्तराखंड के देहरादून (1,64,843 प्रतियां) एवं नैनीताल (97,917 प्रतियां) में भी यह नंबर वन के शिखर पर है।

सोशल मीडिया के कुशल इस्तेमाल के जरिये और नाॅन प्रीमियम सेगमेंट्स में पाठक संख्या का आधार बढ़ाते हुए उच्च मूल्य की पठनीयता बढ़ाने की दोहरी रणनीति के कारण इसे न सिर्फ पाठक संख्या का विस्तार पाने में मदद मिली है बल्कि इससे अमर उजाला को अपने विज्ञापन खर्चों का कई गुना लाभ पाने में भी कामयाबी मिली है।

अमर उजाला के डायरेक्टर प्रबल घोषाल बताते हैं, “गैर-शहरी महत्वाकांक्षी युवा अब विज्ञापनदाताओं का सबसे चहेता वर्ग बन गए हैं। लगातार संलग्न प्रक्रिया के जरिये हमारे उत्पाद, कंटेंट और मार्केटिंग योजना से इस वर्ग को जोड़ने के लिए ही बनाए जाते हैं। हमारी उपस्थिति वाले तेजी से विकसित होते छोटे शहरों में हिंदी भाषा की पाठक संख्या का विस्तार और विज्ञापन के बढ़ाते दायरे ने हमें प्रसार संख्या को इस स्तर पर पहुंचाने में मदद की है।” उन्होंने यह भी कहा, “ हमारी प्रसार संख्या की रणनीति रही है कि हम उन शहरों में महत्वपूर्ण पाठकों के साथ आगे बढ़ें और साथ ही ऐसी जगहों पर पहुंच बनाएं जहां लोग ब्रांडेड या सेमी-ब्रांडेड उत्पाद खरीदते हैं।”

अति महत्वपूर्ण पाठकों तक पहुंच बनाने और समाचारों तथा विश्लेषण की मजबूत पैकेजिंग की केंद्रित सर्कुलेशन रणनीति ने अमर उजाला को अपने प्रतिद्वंद्वियों के बीच एक स्पष्ट शिखर तक पहुंचा दिया है।

अमर उजाला के बारे में

अमर उजाला भारत के सबसे तेजी से बढ़ते दैनिक अखबारों में से एक है जिसके सात राज्यों और एक केंद्रशासित राज्य में 19 संस्करण हैं। वर्ष 2016 की दूसरी छमाही के दौरान इसका सर्कुलेशन 29.61 लाख (स्रोतः एबीसी, जुलाई से दिसंबर 2016 के दौरान) प्रतियों का रहा जिसके तहत उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, दिल्ली और चंडीगढ़ में इसने मजबूत पकड़ बनाई है। यह अखबार अमर उजाला पब्लिकेशंस लिमिटेड से संबद्ध है। अमर उजाला एक ऐसा दैनिक अखबार है जो मनोरंजन, महिलाओं के मुद्दों और शिक्षा पर विशेष प्रिंट सप्लीमेंट्स देता है।

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करेंः

नेहा सिकरी

ईमेलः nehas@del.amarujala.com

फोन नंबर: ़91 9643405724




 

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti