10 Dec 2018, 14:32 HRS IST
  • निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Earth Day Network AsiaNet 72663
श्रेणी: Entertainment
जाने-माने संरक्षणकर्ता और ग्रैमी (आर) पुरस्कार विजेता रिकी केज “अर्थ डे नेटवर्क, इंडिया के एंबेसडर” बने
14/03/2018 12:28:52:717PM

अर्थ डे नेटवर्क एक दिल्ली

जाने-माने संरक्षणकर्ता और ग्रैमी (आर) पुरस्कार विजेता रिकी केज “अर्थ डे नेटवर्क, इंडिया के एंबेसडर” बने

दिल्ली, भारत, 13 मार्च, 2018, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट।

वाशिंगटन डी. सी. अमेरिका मेंमुख्यालय वाली अर्थ डे नेटवर्क वल्र्डवाइड के तहत अर्थ डे नेटवर्क इंडिया (ईडीएन इंडिया) यह घोषणा करते हुए गर्व करती है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मशहूर ग्रैमी (आर) अवार्ड विजेता और संरक्षणकर्ता रिकी केज को इसने अपना एंबेसडर नियुक्त किया है। उत्साही पर्यावरणविद और भारत के सबसे युवा ग्रैमी (आर) पुरस्कार विजेता रिकी केज एक स्वस्थ और स्थिर पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए संगीतमय आवाज में सिविल सोसायटी को शिक्षित एवं सक्रिय करना चाहते हैं और इसमें सहयोग देने के लिए ही वह ईडीएन इंडिया के साथ जुड़े हैं।

दक्षिण एशिया में अर्थ डे नेटवर्क के क्षेत्राीय निदेशक करुणा सिंह ने कहा, “पृथ्वी ग्लोबल वार्मिंग के कारण अपनी धुरी की तरफ टकरा रही है और इसके परिणामस्वरूप जलवायु परिवर्तन हो रहा है तथा इसे जल्द रोकने की सख्त जरूरत है। रिकी केज जैसे प्रभावी और ठोस आवाज वाले वक्ता की जरूरत वक्त की मांग है। बड़े पैमाने पर प्रशंसकों के बीच लोकप्रिय आदर्श रहते हुए वह बहुत जल्द हजारों लोगों को एक साथ जोड़ने की क्षमता रखते हैं और इस प्रकार बहुत कम समय में ही मदद पा सकते हैं तथा पर्यावरण के लिए कुछ करने की जरूरत के प्रति उन्हें जागरूक करते हैं।”

अर्थ डे नेटवर्क इंडिया के एंबेसडर बनते हुए रिकी केज ने कहा, “इस तरह के प्रतिष्ठित और प्रामाणिक पर्यावरणीय सचेत संस्था के एंबेसडर के तौर पर चुने जाने से मैं अत्यंत सम्मानित हुआ हूं। पिछले पांच दशक से ईडीएन ने जो काम किया है वह सराहनीय है। हम अपनी ऊर्जा को उन विशेषज्ञता वाले क्षेत्रों में जोड़ने को लेकर बहुत उत्साहित हैं जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारी धरती न सिर्फ मानव जीवन के लिए बल्कि सभी प्राणियों के लिए हरित, स्वच्छ और कम प्रदूषित बने।”

रिकी केज ने कहा, “कलाकारों में जनधारणा बदलने की क्षमता होती है, संगीत वह काम करता है जिसे करने में शब्द, व्याख्यान और प्रदर्शनी विफल हो जाते हैं, संगीत लोगों की चेतना को अंदर तक झकझोरता है। ईडीएन इंडिया का एंबेसडर होना मुझे संगीतमय तरीके से अधिक से अधिक लोगों तक पर्यावरण चेतना का संदेश प्रसारित करने का एक मंच प्रदान करेगा।”

ग्रैमी (आर) अवार्ड विजेता और अमेरिकी बिलबोर्ड नंबर वन कलाकार रिकी केज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विख्यात भारतीय संगीतज्ञ, संरक्षणकर्ता तथा प्रोफेसर हैं।

रिकी केज ने अपना लेटेस्ट अल्बम ‘‘शांति समसारा’’ कंपोज कर तैयार किया है जिसे भारत के  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रेंकोइस होलांद ने पेरिस में जलवायु परिवर्तन पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र सीओपी21 में विश्व नेताओं की उपस्थिति में लांच किया था। शांति समसारा के लिए रिकी ने पर्यावरण संचेतना के लिए 40 देशों के 500 से अधिक संगीतज्ञों को एकजुट किया। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र आम सभा तथा वैश्विक स्तर पर अन्य प्रतिष्ठित आयोजनों में इस अल्बम के संगीत की दोबार प्रस्तुति दी है।

रिकी को हाल ही में यूएन के ‘‘ग्लोबल ह्यूमैनिटेरियन आर्टिस्ट’’ का सम्मान मिला है और वह भारतीय विज्ञान संस्थान के प्रतिष्ठित नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ एडवांस्ड स्टडीज के प्रोफेसर हैं।

अर्थ डे नेटवर्क पहले पृथ्वी दिवस पर विकसित हुआ और 2010 में इसने स्थायी तौर पर एक भारतीय कार्यक्रम शुरू किया। भारत की इसकी परियोजनाएं ग्रीन सिटीज, स्वच्छ एवं हरित ऊर्जा, महिलाएं एवं ग्रीन अर्थव्यवस्था (वेज (आर)), अर्थ डे, युवाओं में पर्यावरण प्रबंधन, हरित क्षेत्रा का विस्तार, गो आर्गेनिक पर केंद्रित हैं। अर्थ डे 2018 का वैश्विक विषय है ‘एंड प्लास्टिक पाॅल्यूशन’। अधिक जानकारी के लिए देखें

<https://www.earthday.org/about/earth-day-india/>

संपर्कः करुणा ए. सिंह,क्षेत्रीय निदेशक दक्षिण एशिया, कंट्री डायरेक्टर, अर्थ डे नेटवर्क इंडिया

ईमेलः singh@earthday.org <mailto:singh@earthday.org>

टेलीफोनः 91 9831356476

स्रोतः अर्थ डे नेटवर्क

संपादक : यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है । पीटीआइ्र पर इसका कोइ्र संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है ।

पीआरन्यूजवायर- एशियानेटः रंजन

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti