22 Jun 2018, 22:50 HRS IST
  • ब्राजील के जर्सी के रंग में रंगे कोलकाता के एक फुटबॉल प्रेमी का घर
    ब्राजील के जर्सी के रंग में रंगे कोलकाता के एक फुटबॉल प्रेमी का घर
    क्रातोवो:विश्वकप फुटबॉल में पुर्तगाल के स्टॉर खिलडी क्रिस्टियानो रोनाल्डो
    क्रातोवो:विश्वकप फुटबॉल में पुर्तगाल के स्टॉर खिलडी क्रिस्टियानो रोनाल्डो
    मुुंबई:प्लॉस्टिक पर प्रतिबंध लगाने के मुहिम छेडते काजोल एवं अजय देवगन
    मुुंबई:प्लॉस्टिक पर प्रतिबंध लगाने के मुहिम छेडते काजोल एवं अजय देवगन
    क्रोशिया से हारने के बाद मैदान छोडते अर्जेन्टीना के स्टॉर खिलाडी  मैसि
    क्रोशिया से हारने के बाद मैदान छोडते अर्जेन्टीना के स्टॉर खिलाडी मैसि
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Thunkable Asianet pr 73825
श्रेणी: High Technology
फंडिंग में 3.3 मिलियन डालर जुटाने के बाद थंकेबल ने नान-कोडर्स के लिए डीआईवाई मोबाइल एप बिल्डर ‘‘थंकेबल एक्स’’ पेश किया
06/06/2018 11:23:54:473AM



थंकेबल एक सान फ्रांसिस्को

फंडिंग में 3.3 मिलियन डालर जुटाने के बाद थंकेबल ने नान-कोडर्स के लिए डीआईवाई मोबाइल एप बिल्डर ‘‘थंकेबल एक्स’’ पेश किया

सान फ्रांसिस्को, 5 जून, 2018, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट।

किसी को भी अपना स्वदेशी मोबाइल ऐप्स बनाने में सक्षम बनाने वाला प्लेटफार्म थंकेबल (http://thunkable.com/ ) ने आज थंकेबल एक्स लांच करने की घोषणा की।

लोगो-  https://mma.prnewswire.com/media/700114/Thunkable_Logo.jpg

   थंकेबल एक्स एक क्रास-प्लेटफार्म ऐप बिल्डर है जिसका मतलब है कि एंड्रायड और आईओएस डिवाइस दोनों  पर काम करने के लिए सभी ऐप इसी प्लेटफार्म पर निर्मित होते हैं।

   थंकेबल एक्स पर नान-कोडर्स आसानी से खूबसूरत ऐप्स, ड्रैग और ड्राप ब्लाक के साथ प्रोग्राम पावरफुल फंक्शनैलिटी डिजाइन कर सकते हैं और ऐप को गूगल प्ले स्टोर तथा एप्पल के ऐप स्टोर पर अपलोड कर सकते हैं।

   थंकेबल के सह-संस्थापक और सीईओ अरुण सैगल ने कहा, “परंपरागत रूप से एक परिष्कृत ऐप बनाने के लिए हजारों डालर खर्च करने पड़ते हैं और इसमें इंजीनियरों की दो टीमें लगती हैं- एक टीम एंड्रायड के लिए तथा दूसरी टीम आईओएस के लिए। लेकिन अब नान-कोडर आसानी से एक प्लेटफार्म पर अपना ऐप बना सकते हैं और ये ऐप्स एंड्रायड डिवाइस, आईफोन तथा आईपैड पर काम करेंगे।”

   फारेस्टर रिसर्च के मुताबिक, लो-कोड/ नो-कोड प्लेटफार्मों के बाजार 2020 तक 16 अरब डालर तक पहुंच जाएंगे। इस विकसित होते बाजार में थंकेबल डीआईवाई ऐप निर्माण में वैश्विक बाजार अग्रणी बनने के लिए पहले से अपना मुकाम हासिल कर चुकी है।

   अभी थंकेबल पर 500 हजार से अधिक यूजर्स हैं जिन्होंने एक मिलियन से अधिक ऐप बना लिए हैं। साथ ही थंकेबल पर बने ऐप्स 195 देशों में 16 मिलियन एमएयू से अधिक हो चुके हैं । 

   थंकेबल को नो-कोड/ लो कोड क्षेत्रा में जो चीज अलग रखती है, वह इसकी विजुअल ड्रैग और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जो नान-कोडर के इस्तेमाल में भी बहुत आसान है, साथ ही एक विशेष, खूबसूरत तथा सशक्त ऐप बनाने में यह उतना ही अधिक सक्षम है। यह मुहिम गूगल तथा एमआईटी के शोधकर्ताओं द्वारा शुरू की गई थी और वहीं थंकेबल की परिकल्पना साकार हुई थी। 

   थंकेबल के सह-संस्थापक और सीटीओ वेहुआ जेम्स ली ने कहा, “अरबों लोगों के पास शक्तिशाली स्मार्टफोन हो गए हैं लेकिन चंद इंजीनियर ही इनका प्रोग्राम कर सकते हैं। हमने सभी स्मार्टफोन यूजर्स को अपनी निजी मोबाइल टेक्नोलाजी बनाने के लिए उन्हें सशक्त बनाने पर फोकस किया।”

   थंकेबल यूजर्स अपने ऐप्स के लिए विभिन्न प्रकार के फीचर्स और इंटीग्रेशंस चुन सकते हैं जिनमें गूगल मैप्स, माइक्रोसाफ्ट इमेज रिकाग्निशन, पेमेंट्स थ्रू स्ट्राइप तथा अन्य एपीआई शामिल हैं ।

   आज की तारीख तक थंकेबल ने लाइटस्पीड वेंचर पार्टनर्स, एनईए, एसवी एंजल, वाई कंबिनेटर, पीजेसी, मंद्रा कैपिटल, जोए मोंटानाज लिक्विड 2 वेंचर्स और झेनफंड से फंडिंग पाते हुए 3.3 मिलियन डालर जुटा लिए हैं।

थंकेबल के बारे में

   वर्ष 2015 में शुरू थंकेबल एक ऐसा प्लेटफार्म है जो किसी को भी अपना निजी स्वदेशी मोबाइल ऐप्स बनाने में सक्षम बनाता है। थंकेबल की अवधारणा गूगल रिसर्च तथा एमआईटी में साकार हुई थी। अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें  http://thunkable.com


मीडिया संपर्कः

जिमी हेबर

1 (650) 434 0213

press@thunkable.com


स्रोत: थंकेबल 

पीआरन्यूजवायर- एशियानेटः रंजन




 


संपादक : यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है । पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है ।

 

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
Jimmy Haber +1-(650)-434-0213 press@thunkable.com
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti