18 Feb 2019, 11:22 HRS IST
  • पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Zhejiang University
श्रेणी: General
भविष्य की रूपरेखाः झेजियांग यूनिवर्सिटी कैसे जीवन में बदलाव ला सकती है
16/01/2019 2:27:36:750PM

 भविष्य की रूपरेखाः झेजियांग यूनिवर्सिटी कैसे जीवन में बदलाव ला सकती है 


 

हेंगझोउ, चीन, 14 जनवरी, 2019, शिन्हुआ- एशियानेट।  

 

जवाबदेही। कठिन परिश्रम। निष्ठा। झेजियांग यूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफेसर इमरान हैदर शम्सी के अनुसार अच्छे जीवन के ये  तीन नियम हैं। शम्सी ने ही इस यूनिवर्सिटी का सूत्रावाक्य दिया हैः सत्य की तलाश, नवोन्मेषण की खोज। 

 

जेडजेयू में अठारह साल बिताने से शम्सी को प्रतिभा निखारने में मदद मिली, अंडरग्रैजुएट छात्रा से पीएच. डी. छात्रा और फिर पोस्टडॉक धारक होते हुए वह डिपार्टमेंट ऑफ एग्रोनोमी, कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर तथा बायोटेक्नोलॉजी के पहले विदेशी शिक्षक बने। 

 

शम्सी ने कहा, “मैं जेडजेयू में जेडजेयू द्वारा और जेडजेयू के लिए ही बना। मैं अपने पाकिस्तानी पूर्वजों तथा परिजनों को जानता हूं और मेरा विश्वास है कि मैंने अपनी पहचान कभी नहीं खोई। लेकिन मैंने बहुत खुले दिल से चीनी संस्कृति भी अपनाई।”

 

जेडजेयू के छात्रा के नाते मिले अवसरों को भुनाते हुए शम्सी जेडजेयू क छात्रों की भविष्य की पीढ़ी को संवारने में मदद के लिए शिक्षक के तौर पर अपनी भूमिका को लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित हैं  और उन्होंने कई सारे पुरस्कार भी जीते हैं जिनमें 2016 का नेशनल यूनिवर्सिटी यंग टीचर्स कंपीटिशन का पहला पुरस्कार भी शामिल है। वह मानते हैं कि चीन की प्रमुख शोध केंद्रित यूनिवर्सिटी में से एक जेडजेयू ज्ञान अर्जन तथा प्रसारण के लिए एक उत्कृष्ट माहौल प्रदान कर रही है।’’ 

 

जेडजेयू में पूरी तरह से शैक्षणिक आजादी महसूस की जा सकती है और यह अंतरविभागीय साझेदारी अपनाने, रियल-वर्ल्ड की समस्याओं पर शोध कार्यान्वयन तथा नए विचारों तथा अवधारणों की खोज के लिए सकारात्मक प्रोत्साहन देती है। 

 

यही पहल जेडजेयू के इंटरनेशनल डिजाइन इंस्टीट्यूट में भी अपनाई जाती है। इसके डिप्टी डायरेक्टर लिंगयुन सन बताते हैं, “हम दूसरे बड़े संस्थानों के प्रोफेसरों और छात्रों को अपने साथ जुड़ने के लिए आमंत्रित करने में अच्छे हैं। हम समझते हैं कि सबसे रचनात्मक क्षेत्रा वही है जहां विज्ञान कला से मिलता है, डिजाइन से मिलता है, इंजीनियरिंग से मिलता है- ये चारों क्षेत्रा मिलकर व्यापक अवसर प्रदान कर सकते हैं।” 

 

“हमारे विचार इस बात को लेकर हैं कि हम कैसे भविष्य का ईजाद कर सकते हैं और जेडजेयू पर्यावरण के कारण, अलीबाबा (चीनी ई-कॉमर्सकंपनी जिसका मुख्यालय हेंगझोउ में है ) के साथ हमारे साझा संस्थान के कारण और स्थानीय मैन्युफैक्चरिंग पृष्ठभूमि के कारण जेडजेयू का खास मुकाम है। हमारे लिए छात्रों को अपने आइडिया  को बाजार में भुनाने के लिए प्रोत्साहित करने का अवसर पाना बहुत दिलचस्प है।”

 

जेडजेयू डिजाइन के छात्रों के कार्यों की ताजा प्रदर्शनी में ओरिगैमी रोबोट्स, इलेक्ट्रिक साइकिल और टेक्नोलॉजी पिलो भी शामिल थे जिनसे यूजर्स को प्रकृति के ‘व्हाइट नॉइज’’ के अनुकूल हल्की नींद में प्रवेश पाने में मदद मिलती है। इसके अलावा प्रदर्शनी में शामिल लाइटिंग उत्पाद एक बड़ी व्यावसायिक सफलता प्रदान कर रहा है। 

 

जेडजेयू की शिक्षण पद्धति में नवोन्मेषण का भी प्रमाण है और 2018 में इसके सबसे रचनात्मक और लोकप्रिय इंस्ट्रक्टरों में से एक वेंग केई को योंगपिंग आउटस्टैंडिंग टीचिंग कंट्रीब्यूशन अवार्ड से सम्मानित किया गया। सालाना 14 कोर्सों में वह अध्यापन करते हैं, वेंग की कक्षाओं में भारी उपस्थिति रही है जहां उन्होंने अपने मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज (एमओओसी) के लिए 20 लाख पंजीकरण भी कराए हैं। 

 

उनकी शिक्षण शैली के बारे में पूछे जाने पर वेंग बड़ी विनम्रता से कहते हैं, “मैं एक तरह से सख्त शिक्षक हूं क्योंकि मैं सामान्य तरीके से प्रशिक्षित नहीं हुआ हूं। मैंग्रैजुएट हूं , समझता हूं कि मैं शायद शिक्षण में अच्छा हो सकता हूं और यही मैंने करना चाहा। दरअसल झेजियांग यूनिवर्सिटी की एक बहुत अच्छी परंपरा रही है जिसमें मैं छात्रों को पढ़ाता हूं। मैंने यहां ग्रैजुएट किया है और मेरे पास यहां के शिक्षकों का अनुभव है। मैंखुद को पढ़ाए गए अपने शिक्षकों का भी कुछ उदाहरण इस्तेमाल करता हूंताकि यह एक पीढ़ीगत शिक्षण रहे, एक विरासत बने।” 

 

वेंग पिछले 23 वर्षों से जेडजेयू में शिक्षण और अध्यापन सुधार के अगुआ रहे हैं। वह समझते हैं कि जेडजेयू में शिक्षकों और छात्रों के बीच घनिष्ठ रिश्ते सफलता की महत्वपूर्ण कुंजी है। ‘‘ यहां के छात्रा एक बड़े परिवार का हिस्सा महसूस करते हैं, हम आपस में गहरे जुड़े हुए हैं।’’  

 

इसी बात पर जोर देते हुए चु कोचेन ऑनर्स कॉलेज की अंडरग्रैजुएट मा केई ऐसे कई उदाहरण देने के लिए उत्सुक हैं कि कैसे उन्हें अपने प्रयासों के लिए सहयोग मिला। इसी कॉलेज में जेडजेयू के शीर्ष 5 फीसदी छात्रा पढ़ते हैं। 

 

वह बताती हैं, “कॉलेज हमें कई सारे संसाधन मुहैया कराता है। मुझे यहां शोध करने और पेपर प्रकाशित करने के अवसर मिलते हैं। इस बीच मैं यहां अनुभव पाने और थ्योरी को प्रैक्टिस में इस्तेमाल करने के लिए इंटर्नशिप भी कर सकती हूं। यदि आपके पास कोई आइडिया है और आप कॉलेज में इसे कार्यान्वित करना चाहते हैं तो आपको मदद मिलेगी, यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो कॉलेज आपको फंडिंग भी करेगा, यदि आप कॉलेज के लिए कोई भी मूल्यवान या सार्थक कार्य करना चाहते हैं तो यहां आपको मदद मिलेगी और संसाधन भी दिए जाएंगे।”

 

जेडजेयू का वैश्विक प्रतिस्पर्धा में सफलता अर्जित करने के लिए छात्रों की मदद करने का भी आकर्षक रिकॉर्ड रहा है। वर्ष 2018 में इस यूनिवर्सिटी ने टोक्यो इंटरनेशनल कॉयर कंपीटिशन, रोबोकप और इंटरनेशनल जेनेटिकली इंजीनियर्ड मशीन कंपीटिशन में जीतने का दावा किया है। 

 

फुटबॉल विश्व कप का मानवनिर्मित वर्जन रोबोकप का आयोजन मांट्रियल, कनाडा में किया गया था और इसने जेडजेयू की टीम को एक प्रतियोगिता में अपने नवोन्मेषक आइडिया प्रदर्शित करने का मौका दिया जिसे रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस रिसर्च को बढ़ावा देने और साथ ही टेक्नोलॉजी की तरक्की के लिए डिजाइन किया गया है। 

 

विजेता टीम के सदस्य चेन जेक्शी ने बताया कि यह एक चौंकाने वाली सफलता थीः “हमने छोटे आकार की लीग जीती। यह आश्चर्यजनक था। हमने 2013 और 2014 में भी जीत दर्ज की लेकिन इस वर्ष हम चैंपियन बनने के बारे में नहीं सोचते क्योंकि हम नए नवोन्मेषण के बारे में प्रयास कर रहे हैं। हमें मिले बड़े सहयोग और फंडिंग के लिए मैं यूनिवर्सिटी को इसका श्रेय देना चाहता हूं।” 

 

जेडजेयू के बताए गए लक्ष्यों में सभ्यता का विकास, समाज की सेवा और नेतृत्व करना तथा राष्ट्रीय समृद्धि को बढ़ावा देना, सामाजिक विकास तथा मानव प्रगति करना है। इसकी नीतियां अपने छात्रों तथा कर्मचारियों को आगे बढ़ने के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया करा रही हैं, ठीक उसी तरह, जिस तरह लगभग दो दशक पहले शम्सी ने किया था। जहां कहीं से भी कोई व्यक्ति आता है और उसकी चाहे जो भी पृष्ठभूमि रहती है, जेडजेयू उसके उद्भव के बारे में मार्गदर्शन पाने के लिए उत्सुक रहती है।  

 

शम्सी बताते हैं, “विदेशी प्रतिभा को विदेशी के तौर पर कभी नहीं देखा जाना चाहिए। इसके बजाय खुद को उस समाज का हिस्सा मानना चाहिए जहां आप हैं और तभी आप उसमें योगदान कर सकते हैं। जीवन के लिए, खुद के लिए, अपने काम, अपने परिवार और अपनी संस्था के लिए जवाबदेही उठाएं। कठिन परिश्रम से न घबराएं। उस परिवार,  परंपरा, देश और उस संस्था के प्रति निष्ठा प्रदर्शित करेंजहां आप काम करते हैं।” 

 

“मैं आपको एक रहस्य बताऊंगाः प्रत्येक सुबह जब मैं उठकर जेडजेयू में काम के लिए जाता हूं, मैं खुद  को बताता हूं कि यही जेडजेयू है जिसने मुझे सम्मान और प्रतिष्ठा दी है और इसी विश्वास के साथ मैं अपना दिन का काम शुरू करता हूं। इस कॉलेज के प्रति यही मेरा प्यार है।” 

 

स्रोतः झेजियांग यूनिवर्सिटी 

 

तस्वीर संलग्नक लिंकः 


 


संपादक : यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।

 

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti