16 Jan 2021, 12:18 HRS IST
  • नाइक की हालत में काफी सुधार
    नाइक की हालत में काफी सुधार
    टेस्ट क्रिकेट में 6 हजार रन पूरे करने वाले 11वें भारतीय बने पुजारा
    टेस्ट क्रिकेट में 6 हजार रन पूरे करने वाले 11वें भारतीय बने पुजारा
    पीजीए चैंपियनशिप ने डोनाल्ड ट्रंप से नाता तोड़ा
    पीजीए चैंपियनशिप ने डोनाल्ड ट्रंप से नाता तोड़ा
    कोविड-19 के दौरान किसानों के जमावड़े पर न्यायालय चिंतित
    कोविड-19 के दौरान किसानों के जमावड़े पर न्यायालय चिंतित
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Swarnim Startup & Innovation University
श्रेणी: General
केंद्रीय आयुष मंत्री, श्रीपद नायक ने कोविड-19 से संघर्ष के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा अपनाई गई 'अभिनव पद्धति' के बारे में स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेश
05/05/2020 3:14:00:853PM
केंद्रीय आयुष मंत्री, श्रीपद नायक ने कोविड-19 से संघर्ष के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा अपनाई गई 'अभिनव पद्धति' के बारे में स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित किया


नई दिल्ली, 5 मई, 2020 /PRNewswire/ -- आज पूरी दुनिया अदृश्य कोरोनावायरस के खिलाफ संघर्ष कर रही है, और ऐसी स्थिति में इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए भारत द्वारा सही समय पर एवं सतर्कतापूर्वक उठाए गए कदमों की वैश्विक मंच पर सराहना की जा रही है। आयुष मंत्रालय की ओर से निरंतर जारी की जाने वाली प्रमाणिक जानकारी और दिशानिर्देशों ने भारत में कोरोनावायरस के प्रसार को कम करने में बेहद अहम भूमिका निभाई है।

3 मई, 2020 को गुजरात की राजधानी गांधीनगर में स्थित स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन सत्र के दौरान यूनिवर्सिटी के छात्रों, अभिभावकों एवं प्राध्यापकों को संबोधित करते हुए, केंद्रीय आयुष मंत्री, श्रीपद नायक ने आयुष मंत्रालय द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों पर चर्चा की, जिससे देश को कोविड-19 के खिलाफ संघर्ष में काफी मदद मिली।

माननीय केंद्रीय मंत्री, श्री नायक ने बताया कि भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में आयुष मंत्रालय की सलाह का पालन किया जा रहा है, और उन्होंने कहा, "वास्तव में आयुर्वेदिक काढ़ा एवं योग कोविड-19 के इलाज में संजीवनी के समान है।" 

माननीय केंद्रीय मंत्री, श्रीपद नायक, आयुर्वेद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) मंत्री, तथा केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) को एकमात्र एवं मुख्य वक्ता के तौर पर विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था।

इस ऑनलाइन सत्र में 5000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया, जिसमें मुख्य रूप से सभी कर्मचारीगण, मौजूदा छात्रों के साथ-साथ पूर्व छात्र, तथा भारत सहित विदेशों में मौजूद अभिभावक शामिल थे। इस ऑनलाइन सत्र का उद्घाटन स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष, श्री ऋषभ जैन, उपाध्यक्ष, श्री आदि जैन, और प्रोवोस्ट, डॉ. कार्तिक जैन ने किया। 

माननीय केंद्रीय मंत्री, श्री श्रीपद नायक ने नोवेल कोरोनोवायरस और कोविड-19 रोग के बारे में गहन जानकारी दी, तथा अभूतपूर्व कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप से लड़ने के लिए मंत्रालय द्वारा शुरू की गई पहलों के बारे में बताया। 

माननीय मंत्री, श्री नायक ने कहा, "इस वायरस के उपचार के लिए अब तक कोई कारगर दवा या वैक्सीन नहीं मिली है। लिहाजा सामाजिक तौर पर एक-दूसरे से दूरी बनाए रखना, व्यक्तिगत स्वच्छता तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि ही कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने का एकमात्र तरीका है।" 

माननीय मंत्री, श्री श्रीपद नायक ने युवा छात्रों को इस कठिन समय का सदुपयोग करने के लिए प्रेरित किया, ताकि देश के समक्ष सार्वजनिक स्वास्थ्य से जुड़े अभूतपूर्व संकट का समाधान निकाला जा सके। 

स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी, जो कि देश की पहली ऐसी यूनिवर्सिटी है जहां अलग अलग क्षेत्रों के अध्ययन के साथ उद्यमिता और एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा दिया जाता है, की प्रशंसा करते हुए माननीय मंत्री श्रीपद नायक जी ने कहा, "यह समय खासतौर पर होम्योपैथी और आयुर्वेद के क्षेत्र में स्टार्टअप के विकास के लिए सबसे बेहतर है। पिछले दो महीनों की अवधि में आयुष विभाग द्वारा दी जाने वाली सहायता की मांग में 100% से अधिक की वृद्धि हुई है।" 

सत्र में भाग लेने वाले सभी लोगों ने इसकी भरपूर सराहना की, तथा माननीय मंत्री के साथ-साथ माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी, माननीय मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी और भारतीयों को कोरोनावायरस से सुरक्षित रखने के उद्देश्य से मंत्रालय में दिन-रात काम कर रहे अन्य सभी लोगों के लिए तालियों की गड़गड़ाहट के साथ इस सत्र का समापन हुआ।

स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी के बारे में

स्वर्णिम स्टार्टअप एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी गांधीनगर स्थित बहु-विषयक विश्वविद्यालय है। इंजीनियरिंग, वास्तुकला, डिजाइन, विज्ञान, मैनेजमेंट और स्वास्थ्य विज्ञान की शिक्षा के साथ, स्टार्टअप और उद्यमिता के प्रशिक्षण पर ध्यान केंद्र करती यह देश की पहली यूनिवर्सिटी है।




संपादक : यह विज्ञप्ति आपको पीआरन्यूजवायर के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है
संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
Shruti Chaturvedi shruti@chaaipani.com +91-8905531545 Founder Chaaipani Media
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti