21 Oct 2020, 10:53 HRS IST
  • न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Bill & Melinda Gates Foundation
श्रेणी: General
गेट्स फाउंडेशन की सालाना गोलकीपर्स रिपोर्ट बताती है कि कोविड—19 ने 20 वर्षों की प्रगति रोक दी है, इस महामारी को खत्म करने के लिए वैश्विक प्रयास करना
15/09/2020 3:16:30:150PM
गेट्स फाउंडेशन की सालाना गोलकीपर्स रिपोर्ट बताती है कि कोविड—19 ने 20 वर्षों की प्रगति रोक दी है, इस महामारी को खत्म करने के लिए वैश्विक प्रयास करना होगा

सिएटल, 15 सितंबर, 2020, पीआरन्यूजवायर—एशियानेट।

— रिपोर्ट बताती है कि आर्थिक नुकसान से कैसे असमानता बढ़ी है और यूएन स्थायी विकास लक्ष्य की उपलब्धि को पटरी से उतार दिया है, रिपोर्ट चुनौतियों से निपटने के लिए देशों के नवोन्मेषण पर जोर देती है।

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने आज अपनी चौथी सालाना गोलकीपर्स रिपोर्ट पेश की जिसमें नए डाटा दिखाए गए हैं कि कैसे कोविड—19 के झकझोर देने वाले प्रभाव ने संयुक्त राष्ट्र के स्थायी विकास लक्ष्य


(वैश्विक लक्ष्य) की 20 साल की प्रगति पर विराम लगा दिया है।

यह रिपोर्ट बहुत हालिया डाटासेट प्रदान करती है कि कैसे महामारी वैश्विक लक्ष्य की प्रगति को प्रभावित कर रही है। यह दर्शाती है कि लगभग सभी शुरुआती संकेतक ने विश्व को पीछे धकेल दिया है। कोविड—19 के कारण अत्यंत गरीबी 7 फीसदी तक बढ़ गई है। स्वास्थ्य प्रणालियां कैसे काम कर रही हैं, इसमें अच्छे प्रतिनिधित्व उपाय के तौर पर वैक्सीन कवरेज 1990 के दशक में देखे गए स्तर से भी गिर रहा है, यह बताता है कि 25 सप्ताह में ही विश्व 25 साल पीछे चला गया है।

कोविड—19 से आर्थिक क्षति के कारण असमानता में इजाफा हो रहा है। महामारी का महिलाओं, नस्ली और धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों तथा अत्यंत गरीबी में रह रहे लोगों पर जबर्दस्त असर हुआ है। विश्वभर की महिलाएं पूर्ण रूप से भुगतानरहित कार्य की बढ़ती मांग और बड़े पैमाने पर छंटनी के अनुभवों के कारण बहुत ज्यादा दबाव झेल रही हैं। अमेरिका में काले और लैटिन क्षेत्र के लोगों की संख्या उन गोरे लोगों की संख्या के मुकाबले दोगुनी है जो अपना मकान किराया नहीं दे सकते।

हताशाजनक आकलन के बावजूद बिल एंड मेलिंडा गेट्स महामारी से उबरने और ग्लोबल गोल्स की प्रगति बहाल करने का एक रास्ता बताया है। हर साल मिलकर तैयार की जाने वाली इस रिपोर्ट में उन्होंने निदान, वैक्सीन और इलाज के विकास के लिए विश्व से मिलकर काम करने, यथासंभव जांच की प्रक्रिया बनाने और भुगतान करने की क्षमता नहीं होने पर भी जरूरत के मुताबिक समान रूप से उपकरणों के वितरण का आह्वान किया है। समान निष्कर्ष हासिल करने में मदद के लिए ये सब मौजूदा उपलब्ध कई व्यावहारिक रणनीतियां हैं जिनमें महामारी को खत्म करने के सबसे गंभीर सामूहिक प्रयास कोविड—19 टूल्स (एसीटी) एक्सीलेरेटर


हासिल करना भी शामिल है, जो वैक्सीन अलायंस और एड्स, ट्यूबरकुलोसिस तथा मलेरिया से लड़ने के लिए बने गावी, वैक्सीन अलायंस और ग्लोबल फंड जैसे सिद्ध संगठनों को एकजुट करता है।

बिल एंड मेलिंडा गेट्स ने लिखा, 'कोविड—19 महामारी के दौर में यह पहल हमें सर्वश्रेष्ठ मानवता दिखाती है: उल्लेखनीय नवोन्मेषण, फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं का नायकत्व कार्य और अपने परिवारों, पड़ोसियों तथा समाज के लिए सर्वश्रेष्ठ करने वाले सामान्य लोगों के लिए। यह एक साझा वैश्विक संकट है जिसमें साझा वैश्विक पहल करना जरूरी है।'

इस रिपोर्ट में स्पष्ट कहा गया है कि इस चुनौती से अकेला कोई देश नहीं लड़ सकता। किसी देश द्वारा खुद की सुरक्षा और दूसरे देशों की अनदेखी करने वाली कोई पहल महामारी से होने वाले संकट को और लंबा ही खिंचेगा। जब तक समान रूप से वितरित न किया जाए टीकों का विकास और उत्पादन इस महामारी का अंत नहीं कर पाएगा।

नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी की मॉडलिंग के मुताबिक, यदि अमीर देश टीके की 2 अरब खुराक को समान रूप से वितरित करने के बजाय पहली खेप खरीदते हैं तो कोविड—19 से अब तक मरने वाले लोगों की संख्या के मुकाबले लगभग दोगुनी हो जाएगी।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष का आकलन है कि विश्व में अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के लिए खर्च की गई 18 खरब डॉलर राशि के बावजूद वैश्विक अर्थव्यवस्था को वर्ष 2021 के अंत तक 12 खरब डॉलर या उससे अधिक का नुकसान होगा— यह दूसरे विश्वयुद्ध के अंत के बाद अब तक की सबसे बड़ी जीडीपी क्षति है। कुछ देशों में आपात प्रोत्साहन और सामाजिक सुरक्षा के कारण खराब निष्कर्ष आने से बचा है। लेकिन निम्न और मध्य आयवर्ग वाले देशों के लिए भी एक सीमा है कि अपनी अर्थव्यवस्थाओं की सुरक्षा के लिए वे कितना कुछ कर सकते हैं, चाहे इन अर्थव्यवस्थाओं को बहुत प्रभावी ढंग से क्यों न प्रबंधित किया जाए।

इन दबावों के बावजूद सभी देश इन चुनौतियों से निपटने के लिए नए प्रयोग कर रहे हैं। टीकों और उपचार के लिए ज्यादा से ज्यादा कंपनियां पहले की तुलना में तेजी से काम कर रही हैं। महामारी केंद्रित नवारों में वियतनाम में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और घाना में पूल्ड टेस्टिंग शामिल हैं जबकि 138 देशों में नए या संशोधित डिजिटल नकद हस्तांतरण कार्यक्रम 1.1 अरब लोगों तक पहुंच रहे हैं। अफ्रीका सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन और इसके दर्जनों भागीदारों ने यह सुनिश्चित करने के लिए अफ्रीकी मेडिकल सप्लाई प्लेटफॉर्म शुरू किया है कि इस महाद्वीप के देश किफायती, उच्च क्वालिटी, जीवनरक्षक उपकरण और आपूर्ति की सुविधा हासिल कर सकें, जिनमें से कई चीजें अफ्रीकी में ही बनाई गई हैं।

बिल एंड मेलिंडा गेट्स का मानना है कि कोविड—19 वैश्विक समुदाय के लिए एक सच्ची परीक्षा है।

मेलिंडा गेट्स ने कहा, 'इस महामारी को लेकर सबसे दिक्कत वाली बात यह है कि यह स्वास्थ्य प्रणालियों और वैश्विक अर्थव्यवस्था को बाधित कर रही है, स्वस्थ जीवन जीने और अधिक उत्पादनशील जीवन की दिशा में मनुष्य जो प्रगति कर रहा है, उसे इसने खत्म करना शुरू कर दिया है। हमारी रिपोर्ट विश्व की परिस्थितियां बदलने के लिए किए जाने वाले कार्यों पर प्रकाश डालती है। शोधकर्ता सुरक्षित और प्रभावी कोरोनावायरस टीके बनाने के बहुत करीब पहुंच गए हैं लेकिन सफल विज्ञान को उल्लेखनीय उदारता के साथ ही जोड़ा जाना चाहिए। हमें सरकार और फार्मास्यूटिकल उद्योग से जुड़े ऐसे नेताओं की जरूरत है जो यह सुनिश्चित कर सकें कि हर व्यक्ति चाहे वह कहीं का रहने वाला हो, इन टीकों को प्राप्त कर सकता है। हमें पूरी उम्मीद है कि ऐसा ही होगा।'

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन पिछले 20 वर्षों से अधिक समय से जन स्वास्थ्य की जानकारी और इसके लिए धन दान कर रही है, जब से इसने एक लेख पढ़ा कि गरीबी में रह रहे हजारों बच्चे कैसे डायरिया के कारण मर रहे हैं, जो अमेरिका जैसे देशों में बड़ी आसानी से इलाज की जा सकने वाली बीमारी है। आज वैश्विक साझेदारी और प्रतिबद्धता के कारण वर्ष 2000 की तुलना में 45 लाख कम बच्चे बचावयोग्य बीमारियों से मर रहे हैं।

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के बारे में

इस विश्वास से प्रेरित कि हर जीवन का समान मूल्य है, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन सभी लोगों को स्वस्थ, उत्पादक जीवन जीने में मदद करने के लिए काम करता है। विकासशील देशों में, यह लोगों के स्वास्थ्य में सुधार लाने और उन्हें खुद को भूख और अत्यधिक गरीबी से बाहर निकालने का मौका देने पर केंद्रित है। संयुक्त राज्य में, यह सुनिश्चित करना चाहता है कि सभी लोग-विशेष रूप से सबसे कम संसाधनों वाले लोगों के पास स्कूल और जीवन में सफल होने के लिए आवश्यक अवसरों तक पहुंच हो। वाशिंगटन, सिएटल में स्थित, फाउंडेशन का नेतृत्व बिल और मेलिंडा गेट्स और वारेन बफेट के निर्देशन में सीईओ मार्क सुजमैन और सह-अध्यक्ष विलियम एच. गेट्स सीनियर कर रहे हैं।

 गोलकीपर्स के बारे में

गोलकीपर्स स्थायी विकास लक्ष्य (या ग्लोबल गोल्स) पाने की दिशा में प्रगति को गति देने के लिए इस संस्था की मुहिम है। कार्यक्रमों और सालाना रिपोर्ट में ग्लोबल गोल्स के पीछे की गाथाओं और डाटा की साझेदारी करते हुए हम प्रमुखों की एक नई पीढ़ी को प्रेरित करने की उम्मीद करते हैं- प्रगति के लिए जागरूकता बढ़ाने वाले गोलकीपर्स अपने लीडर होने का दायित्व तय करते हैं और गोल्स हासिल करने के लिए कार्यवाही करते हैं।

ग्लोबल गोल्स के बारे में

न्यूर्याक स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में 25 सितंबर 2015 को विश्व के 193 नेताओं ने 17 स्थायी विकास लक्ष्य (या ग्लोबल गोल्स) के लिए प्रतिबद्धता जताई। यह वर्ष 2030 तक तीन असाधारण उपलब्धियां हासिल करने की दिशा में महत्वाकांक्षी उद्देश्यों और लक्ष्यों की एक सीरीज हैः जिनमें गरीबी उन्मूलन, असमानता और अन्याय से लड़ाई तथा जलवायु परिवर्तन पर अंकुश शामिल हैं।

रिपोर्ट लिंक: www.gatesfoundation.org/goalkeepers/report/2020-report

रिपोर्ट विजुअल एसेट्स: http://isbx.it/067f1




(संपादक : यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।)

संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
media@gatesfoundation.org
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti