‘इम्पैक्ट प्लेयर’ का नियम आईपीएल टीमों के लिये बेहतरीन अवसर : बिश्नोई

Updated: Mar 30 2023 3:51PM

(मुहम्मद मजहर सलीम)     लखनऊ, 29 मार्च (भाषा) इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की लखनऊ सुपरजायंट्स (एलएसजी) टीम के अहम स्पिनर रवि बिश्नोई का मानना है कि इस बार ‘इम्पैक्ट प्लेयर’ तथा अन्य नये नियमों से यह लीग और भी ज्यादा रोमांचक बनेगी।     बिश्नोई का यह भी कहना है कि वह एलएसजी के इस बार आईपीएल के प्लेआफ में पहुंच पाने की कम संभावनाएं बताने वाले आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान आरोन फिंच के बयान से सहमत नहीं है। उन्होंने कहा कि इस बार लखनऊ के पास आईपीएल खिताब जीतने का ‘100 प्रतिशत’ मौका है।.

बिश्नोई ने बुधवार को 'पीटीआई-भाषा' से बातचीत में आईपीएल के नये नियमों खासकर ‘इम्पैक्ट प्लेयर’ के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा अवसर है, क्योंकि ‘इम्पैक्ट प्लेयर’ के तौर पर 12वां खिलाड़ी भी टीम में खेल सकता है। इससे न सिर्फ टीमों को फायदा होगा, बल्कि एक खिलाड़ी के तौर पर ‘इम्पैक्ट प्लेयर’ को खुद को साबित करने का मौका भी मिलेगा। इससे मैच में बहुत तेजी से बदलाव आएंगे और काफी मजा आयेगा।’’     एलएसजी के इस बार आईपीएल के प्लेआफ में पहुंचने की कम संभावनाएं बताने वाले आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान आरोन फिंच के बयान के बारे में बिश्नोई ने कहा, ‘‘मैं फिंच के बयान से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं। आप पहले से ही किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते। हमारे पास इस बार आखिरी ओवरों में अच्छी गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज हैं। हमारे पास मार्क वुड, आवेश खान और नवीन उल हक जैसे गेंदबाज हैं जो ‘डेथ ओवर्स’ में सटीक गेंदबाजी कर सकते हैं।’’     गौरतलब है कि फिंच ने एक साक्षात्कार में कहा था कि लखनऊ सुपरजायंट्स के पास डेथ ओवरों में गेंदबाजी करने लायक अच्छे बॉलर नहीं हैं, इसलिये इस बार उसके आईपीएल के प्लेआफ में जगह बनाने की संभावनाएं कम हैं।     बिश्नोई ने कहा कि लखनऊ सुपरजायंट्स ने पिछले साल आईपीएल में अपने पदार्पण सत्र में भी शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन वह फाइनल में जगह नहीं बना पायी थी, लेकिन इस बार टीम के पास अनुभवी और युवा खिलाड़ियों का बेहतरीन मिश्रण है, लिहाजा इस बार उसके आईपीएल खिताब जीतने के 100 प्रतिशत अवसर हैं। इस बार हमारे पास बेहतर टीम है।     भारतीय टीम के लिये एक वनडे और 10 टी-20 मुकाबले खेल चुके इस 22 वर्षीय लेग स्पिनर ने एक सवाल पर कहा कि उन्होंने शेन वार्न और अनिल कुम्बले से काफी कुछ सीखा है और इस वक्त वह अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान का अनुसरण कर रहे हैं।.