पूर्वी राजस्थान के जिलों में पानी की कमी से ईआरसीपी बना चुनावी मुद्दा

Updated: Nov 21 2023 4:28PM

अलवर (राजस्थान), 21 नवंबर (भाषा) ‘‘हमें हर दूसरे दिन केवल 5-10 मिनट पानी मिलता है, गर्मी हो या सर्दी, यह दुश्वारी कभी खत्म नहीं होती है।’’ यह कहना है अलवर जिले में कबीर कॉलोनी की निवासी ऊषा का, जहां पानी की कमी इस बार एक प्रमुख चुनावी मुद्दा बन गया है। .

पूर्वी राजस्थान के जिले घरेलू और सिंचाई, दोनों तरह की जरूरतों के लिए पानी की कमी से जूझ रहे हैं। इसके चलते मॉनसून के दौरान चंबल नदी के अतिरिक्त पानी को मोड़ने के लिए पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) एक राजनीतिक मुद्दा बन गई है। यह परियोजना वर्षों से राजनीतिक खींचतान में फंसी हुई है।.