Source Name : Shoolini University

Category Name : General

Shoolini के छात्र अब विदेशी यूनिवर्सिटी से डिग्री प्राप्त कर सकते हैं

Updated: 03/10/2022

सोलन, भारत, 3 अक्टूबर 2022 /PRNewswire/ -- वैश्विक संपर्क के अवसर उत्पन्न करने की अपनी प्रतिबद्धता पर खरे उतरते हुए, Shoolini यूनिवर्सिटी ने अब 2+2 स्टडी अब्रॉड प्रोग्राम की पेशकश की है। यह ऐसे छात्रों के लिए लाभकारी है जो कम खर्च में विदेश से डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं। चार साल के डिग्री प्रोग्राम जैसे कि BBA, BA, BSc और BTech करने वाले छात्र इस प्रोग्राम के लिए नामांकन करा सकते हैं। छात्र प्रथम 2 वर्ष Shoolini यूनिवर्सिटी में पढ़ सकते हैं और फिर बाद में 2 वर्ष विदेश में किसी अग्रणी यूनिवर्सिटी में अध्ययन कर सकते हैं।

रूचि रखने वाले छात्र Shoolini यूनिवर्सिटी में चार साल के आर्टिकुलेशन प्रोग्राम में नामांकन करा सकते हैं और 6 विश्वस्तरीय यूनिवर्सिटीज में से किसी एक से फाइनल डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, UK, और ताइवान में यूनिवर्सिटीज से अपनी साझेदारी के साथ Shoolini यूनिवर्सिटी पारंपरिक डिग्री पाठ्‌यक्रम का एक आकर्षक विकल्प प्रस्तुत कर रही है। 2+2 प्रोग्राम का लाभ उठाते हुए छात्र वैश्विक संपर्क और अवसर हासिल कर सकते हैं। वर्तमान में द्वितीय वर्ष के कोई छात्र जो वैश्विक अवसर का लाभ लेना चाहते हों, वे Shoolini यूनिवर्सिटी में Office of International Affairs (OIA) से संपर्क कर सकते हैं।

Shoolini यूनिवर्सिटी के प्रो चांसलर Vishal Anand ने इस संबंध में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि, "BBA, BSc, BA या BTech का कोई भी छात्र जो Shoolini यूनिवर्सिटी में 4 वर्षीय प्रोग्राम में पढ़ रहा है, वह एक प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय कैम्पस से अपनी डिग्री पूरी कर सकता है। हमारे छात्रों को यह अद्वितीय अवसर प्रदान करते हुए हमें अत्यन्त प्रसन्नता है।"

प्रोग्राम के अनुसार, छात्र दो वर्ष तक Shoolini यूनिवर्सिटी में पढ़ सकते हैं, जो कि सोलन, हिमाचल प्रदेश (भारत) में स्थित है और इसके बाद दो वर्ष के लिए एक शीर्ष रैंक वाली अंतर्राष्ट्रीय यूनिवर्सिटी में स्थानांतरित हो सकते हैं। वे शेष पढ़ाई अंतर्राष्ट्रीय यूनिवर्सिटी में पूरी कर सकते हैं और वहां से डिग्री ले सकते हैं। अंतिम डिग्री चयनित अंतर्राष्ट्रीय यूनिवर्सिटी द्वारा प्रदान की जाएगी।

साझेदार यूनिवर्सिटीज

Shoolini यूनिवर्सिटी में छात्र 4 वर्षीय एक अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम चुन सकते हैं। हमारी साझेदार यूनिवर्सिटीज निम्न हैं:

•  Western Sydney यूनिवर्सिटी (ऑस्ट्रेलिया)
•  University of Reading (UK)
•  Sheffield Hallam यूनिवर्सिटी (UK)
•  Taipei Medical यूनिवर्सिटी (ताइवान)
•  Meiho यूनिवर्सिटी (ताइवान)
•  British Columbia Institute of Technology (कनाडा) 

विदेश में प्रोग्राम के दौरान छात्रों को पार्ट टाइम नौकरी हासिल करने का मौका प्राप्त होगा, जिससे उन्हें अपने दैनिक खर्चे पूरे करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, वे दो साल का कार्य वीज़ा पाने के लिए भी पात्र होंगे, जिससे उनके PR का मार्ग प्रशस्त होगा। प्रोग्राम पूरा करने पर छात्रों को किसी क्षेत्र में संबंधित नौकरियों के लिए 2 साल का कार्य वीज़ा प्राप्त होगा।

प्रोग्राम की कुछ मूल पूर्वापेक्षाएं निम्न हैं :

•  6.5 CGPA बिना किसी बैकलॉग के
•  Shoolini यूनिवर्सिटी द्वारा मूल्यांकित भाषागत दक्षता
•  न्यूनतम 6.5 बैंड के साथ IELTS स्कोर 6.5 

यह अभूतपूर्व अवसर, छात्रों के लिए वैश्विक अवसर के मार्ग प्रशस्त करेगा। Office of International Affairs (OIA) के निदेशक Prof Ram Parkash Dwivedi ने कहा कि, "2+2 आर्टिकुलेशन प्रोग्राम, शिक्षा के वैश्विक जगत का प्रवेशद्वार है, और अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य में सफल कैरियर बनाने के लिए एक शुरुआती कदम है। यह उनके लिए संभावनाओं के क्षितिज व्यापक करेगा और उनको विदेश में PR पाने में भी मदद करेगा।"

Shoolini यूनिवर्सिटी के बारेमें:

2009 में स्थापित, Shoolini University of Biotechnology and Management Sciences एक अनुसंधान प्रेरित, निजी यूनिवर्सिटी है जिसे UGC से पूरी मान्यता प्राप्त है। यह भारत की एक प्रमुख यूनिवर्सिटी है जो नवप्रवर्तन पर अपने फोकस, क्वॉलिटी प्लेसमेंट और विश्व स्तरीय फैकल्टी के लिए प्रसिद्ध है। हिमालय के निचले भाग में स्थित, इस यूनिवर्सिटी को NAAC से मान्यता प्राप्त है और इसे NIRF द्वारा रैंक किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया देखें: https://shooliniuniversity.com/

फोटो: https://mma.prnewswire.com/media/1911786/2_2_Study_Abroad_Program.jpg
लोगो: https://mma.prnewswire.com/media/792680/Shoolini_University_Logo.jpg

(संपादक : यह विज्ञप्ति आपको पीआरन्यूजवायर के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।)