Source Name : Shoolini University

Category Name : General

भूतपूर्व राष्ट्रपति Kovind ने Shoolini और AIU के संयुक्त प्रकाशन का विमोचन किया

Updated: 24/03/2023

शिलांग, भारत, 24 मार्च, 2023 /PRNewswire/ -- भूतपूर्व राष्ट्रपति Mr Ram Nath Kovind ने गुरूवार को Shoolini University और Association of Indian Universities (AIU) के एक संयुक्त प्रकाशन का विमोचन किया। 'एक स्थायी भविष्य का सृजन - SDG लक्ष्य लागू करने में विश्वविद्यालय किस प्रकार मदद कर सकते हैं' शीर्षक से इस प्रकाशन को University of Science and Technology, Meghalaya (USTM) में वाइस चांसलर्स के राष्ट्रीय सम्मेलन में विमोचित किया गया।

Mr Kovind के अलावा प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष, Bibek Debroy, असम के राज्यपाल, मेघालय के मुख्यमंत्री, और मेघालय के शिक्षा मंत्री इस समारोह के दौरान उपस्थित रहे।

Shoolini University के वाइस चांसलर Prof Atul Khosla, जो इस समारोह में शामिल होने के लिए मेघालय में थे, ने Shoolini faculty को, विशेष रूप से Centre of Excellence in Energy Science and Technology के निदेशक Prof SS Chandel, को उनके योगदान के लिए धन्यवाद दिया।

Prof Atul Khosla ने कहा कि, "इस दस्तावेज में केंद्र और राज्य सरकारों, नियामकीय संस्थाओं जैसे कि UGC, NAAC, वैज्ञानिक वित्तपोषण एजेंसियों आदि और भारत में उच्चतर शिक्षा संस्थानों के लिए सिफारिशें प्रस्तुत की गई हैं।"

संयुक्त राष्ट्र सहस्राब्दी विकास लक्ष्यों (SDG) को लागू करने के लिए एक गुणवत्तापूर्ण दस्तावेज़ तैयार करने के इस प्रयास का समन्वय, Shoolini University के चांसलर Prof PK Khosla, AIU के महासचिव Dr Pankaj Mittal, Prof Atul Khosla और Prof SS Chandel की अध्यक्षता वाली एक संचालन समिति द्वारा किया गया।

Prof Chandel ने कहा कि, "दस्तावेज़ को प्रत्येक SDG के लिए, Shoolini University के 50 से अधिक वैज्ञानिकों की भागीदारी वाली 17 टीमों के साथ समन्वय में चर्चाओं, आपसी बातचीत पर आधारित कार्यशालाओं, और विचार-विमर्शों द्वारा तैयार किया गया था। उन्होंने कहा कि, Shoolini University ने शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्रों में पहले से ही SDG की सिफारिशों को लागू किया हुआ है। Shoolini University ने Times Higher Education Impact Rankings 2022 के अनुसार, SDG 7 (किफायती और स्वच्छ ऊर्जा) के लिए विश्वस्तर पर दूसरा स्थान और SDG 6 (पानी का उपयोग और देखभाल) के लिए छठा स्थान हासिल किया है।"

550 से अधिक वाइस चांसलरों, 50 वैधानिक कार्मिकों, 10 प्रतिष्ठित विदेशी प्रतिनिधियों और नीति निर्माताओं, और IIS, IIT, और NIT के 20 से अधिक निदेशकों ने USTM में इस समारोह में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

Shoolini यूनिवर्सिटी के बारेमें:

2009 में स्थापित, Shoolini University of Biotechnology and Management Sciences एक अनुसंधान प्रेरित, निजी यूनिवर्सिटी है जिसे UGC से पूरी मान्यता प्राप्त है। यह भारत की एक प्रमुख यूनिवर्सिटी है जो नवप्रवर्तन पर अपने फोकस, क्वॉलिटी प्लेसमेंट और विश्व स्तरीय फैकल्टी के लिए प्रसिद्ध है। हिमालय के निचले भाग में स्थित, इस यूनिवर्सिटी को NAAC से मान्यता प्राप्त है और इसे NIRF द्वारा रैंक किया गया है।

फोटो: https://mma.prnewswire.com/media/2039751/Shoolini_University_Book_Release.jpg
लोगो: https://mma.prnewswire.com/media/792680/Shoolini_University_Logo.jpg

(संपादक : यह विज्ञप्ति आपको पीआरन्यूजवायर के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।)

Jagdeep Sambey (7814358442) jagdeepsambey@shooliniuniversity.com